देहरादून – आंचल डेरी प्लांट में खाद्य संरक्षा विभाग द्वारा सैंपलिंग की कार्रवाई
जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका ने जनपद खाद्य पदार्थों की नियमित जांच हेतु अभियान चलाये जाने के निर्देश दिए गए है, जिसके क्रम में एफडीए टीम द्वारा खाद्य पदार्थों के सैंपल लिए जा रहे है। इसी क्रम में एफडीए देहरादून की टीम आज प्रातः देहरादून दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ रायपुर स्थित प्लांट में पहुंची जहां पर आंचल ब्रांड के नाम से पैक्ट फुल क्रीम, मिल्क डबल टोंड, स्किम्ड मिल्क स्टैंडर्डाइज, मिल्क आदि मिल्क प्रोडक्ट तैयार किए जाते हैं प्रतिदिन लगभग 8 से 10000 लीटर प्लांट में तैयार होता है। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना के तहत फोर्टीफाइड फ्लेवर्ड स्किम्ड मिल्क पाउडर भी तैयार किया जाता है जिसमें विटामिन ए और डी भी ऐड कर दूध को फोर्टीफाइड किया जा रहा है तथा फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया के दिशा निर्देश के अनुरूप प्लस ऐफ लोगो को भी फोर्टीफाइड मिल्क की पहचान हेतु लेवल में लगाया जा रहा है। उक्त दूध को स्कूलों में पोषाहार आपूर्ति हेतु तैयार किया जा रहा है उक्त दूध की क्वालिटी जांच हेतु पैकेट बंद एवं लूज दूध के पांच नमूने क्वालिटी जांच हेतु रुद्रपुर प्रयोगशाला में भेजे गए हैं। निरीक्षण के दौरान स्वच्छता संबंधी मानकों में कमियां पाई गई जिसके सुधार के संदर्भ में धारा 32 के तहत डेरी इंचार्ज को नोटिस दिया गया है यदि इसमें विहित समयसीमा के भीतर सुधार नहीं किये जाने पर खाद्य सुरक्षा मानक के तहत कार्रवाई की जाएगी। राजकीय लेब रुद्रपुर से जांच रिपोर्ट के अनुसार उसमें आगे खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी टीम में जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी पीसी जोशी, खाद्य सुरक्षा अधिकारी रमेश सिंह योगेंद्र पांडे व मंजू रावत आदि उपस्थित थे।

👉 इसे भी देखे –जानिए क्या क्या दिखेगा आजीविका महोत्सव 2022 में








👉 इसे भी देखे – तहसील वापस लाओ हस्ताक्षर अभियान लगातार जुड रहे है लोग








👉 इसे भी देखे –महाकुम्भ में चयनित प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को मिलेगा बैडमिंटन, जूड़ो, कराटे, टेबल टेनिस, कबड्डी सहित अन्य खेलों में उच्चस्तरीय प्रशिक्षण-रेखा आर्या









👉 इसे भी देखे –नवीन दृष्टिकोण के साथ आत्मनिर्भर भारत बनाने की दिशा में हो शोध अभिमुखीकरण: डॉ गर्ग



👉 इसे भी देखे – आगामी 2 नवंबर से होने जा रही है अल्मोड़ा में महिला रामलीला का आयोजन